दीप्ति मिश्र : धड़कते दिलों की रोमानी शायरा           
समाज-संस्कृति
तहज़ीब और सक़ाफ़त में अमीर ख़ुसरो की खिदमात           
समाज-संस्कृति